बलात्कार पर शायरी स्टेटस कोट्स | Rape Shayari Status Quotes in Hindi

Rape Balatkar Shayari Status Quotes in Hindi – बलात्कार एक जघन्य अपराध है, इसके अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए और मिलती भी है. लेकिन यह जघन्य अपराध रूकने का नाम नही ले रहा है. आखिर क्या कारण है? इस समस्या के बारें में सबको सोचना पड़ेगा.

हर किसी की इच्छा होती है कि इस प्रकार के अपराध कभी सुनाई न दें. जिन बच्चियों को नवरात्रि ( Navratri ) में पूजा जाता है उनके साथ ऐसा जघन्य अपराध पूरे समाज को शर्मसार कर देता है. न्याय के नाम पर राजनीति होने लगती है. लोग अपने जाति और धर्म के अपराधी को बचाने लगते है. ऐसे अपराधियों का कोई जाति और धर्म नही होता है. ऐसे लोग दया के तो बिलकुल ही पात्र नही होते है.

बलत्कार की पीड़िता किसी गरीब परिवार ( Family ) से है और अपराधी किसी बड़े परिवार से है या किसी नेता का पुत्र है तो न्याय की उम्मीद भी रखना मूर्खता है. अगर न्याय भी मिलता है तो एक बड़े संघर्ष के बाद. ऐसे अपराधों के लिए फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट होना चाहिए ताकि जल्द से जल्द पीड़िता को न्याय मिल सके.

परिवार के बड़े-बुजुर्ग जो कुछ करते हैं वही बच्चा सीखता है. इसलिए परिवार के सभी पुरूष सदस्य द्वारा परिवार के हर महिला सदस्य का सम्मान होना चाहिए. और लड़कों की गलतियों पर माँ-बाप को ध्यान रखना चाहिए. क्योंकि वे अपने लड़के के भावनाओं को अच्छी तरह समझते है. स्कूलों में लड़कों को लड़कियों का सम्मान करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए. अगर आप शिक्षित और सभ्य है और आपके सामने कोई किसी लड़की पर भद्दी टिप्पड़ी करता है तो उसे तुरंत रोके. उसे समझाएं और न माने तो पुलिस को सूचित करें.

शायद ये सब बाते भी इस अपराध को नही रोक पाएंगी. मगर कुछ कम कर सकती है. समाज में सुधार ला सकती है. मुझसे भी ज्यादा बुद्धिमान लोग है सबको अपनी तरफ से कुछ प्रयास करना चाहिए. समाज में बहुत गंदगी और नकारात्मक विचार फ़ैल चुके है. जरूरत है अच्छे और सकारात्मक विचारों की जो समाज की बुराईयों को जड़ से खत्म कर दें.

Rape Shayari in Hindi

कैसे रोका जायेगा इन बढ़ते बलात्कारों को,
यह सोचना होगा सत्ता में बैठी सरकारों को.


जो बच्ची नवरात्रि में पूजी जाती है,
उसकी अस्मिता लूटी जाती है,
राजनीति की रोटियाँ सेकी जाती है,
गरीब को न्याय मिलने में देरी की जाती है.


लुटेरा है अगर आजाद तो अपमान सबका है,
लुटी है एक बेटी, तो लुटा सम्मान सबका है,
बनो इंसान पहले छोड़ कर तुम बात मजहब की
लड़ो मिलकर दरिंदों से ये हिन्दुस्तान सबका है.


बलत्कार जैसे अपराधों की कड़ी सजा क्या हो सकती है?
इन नीच अपराधियों को सुधारने की दवा क्या हो सकती है?


Balatkar Shayari in Hindi

फिर एक गुड़िया वहशी नजरों की हो गई शिकार,
फिर देश, समाज और इंसानियत हो गई शर्मशार.


स्याही सूख नही पाती है अखबारों की,
नई खबर आ जाती है बलात्कारों की.


भारत की बदलती राजनीति में कुछ तो नया होना चाहिए,
बलात्कारी को रोक न सके उस क़ानून को बदल देना चाहिए.


Rape Status in Hindi

लुटी हुई अस्मत से तुम उसका हाल पूछते हो,
जिन्दा लाश को हर अहसास बुरा लगता है.


जिन अपराधियों को कलम की बातें समझ में न आयें,
उनका सिर कलम करके समझाया जाना चाहिए.


इंसान के अंदर इंसानियत बची नही,
सुरक्षित इस दुनिया में कोई बच्ची नही.


Rape Quotes in Hindi

सरकार को ऐसे सॉफ्टवेर और उपकरण तैयार करने चाहिए कि 18 वर्ष के कम उम्र के बच्चे के माँ-बाप यह जान सके कि उनका बेटा मोबाइल पर किस प्रकार का कंटेंट देख रहा है. ऐसा करने से बच्चे गलत कंटेंट नही देखेंगे और उनके मन में डर होगा. बच्चे अपने समय का सदुपयोग पढ़ाई में करेंगे. और कई प्रकार के अपराधी प्रवृत्ति से बचेंगे.

उस शिक्षा प्रणाली को भी बदलने की जरूरत है,
जो किसी बलात्कार जैसी समस्या का समाधान न निकाल सके,
और उस क़ानून व्यवस्था को भी बदलने की जरूरत है,
जो बलात्कारी के अंदर डर को पैदा न कर सके.


रेप पीड़िता अगर गरीब है तो उसे न्याय दिलाने की
जिम्मेदारी सरकार की होनी चाहिए. उसे हर प्रकार
की सहायता मिलनी चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए
कि न्याय व्यवस्था इमानदारी से कार्य करें.


बलात्कार जैसे अपराधों को रोकने के लिए
हर प्रकार के छोटे और बड़े उपायों को
अमल में लाना चाहिए ताकि समाज में सुधार हो.


बलात्कार पर शायरी

खुदा को अपनी बनावट पर शक हुआ,
बनाया था इंसान वो हैवान कब हुआ.


युग कोई भी हो जलना तो हमेशा सीता को ही पड़ा है,
इंसानों का समाज तो सिर्फ खामोश, मूक, मौन खड़ा है.


अकाल अगर अनाज का हो तो
केवल मानव मरता है किन्तु
अकाल अगर संस्कारों का हो तो
मानवता ही मर जाती है.


रेप शायरी

नारी का जब और जिसने अपमान किया है,
उसका सर्वनाश निश्चित हो गया है.
चाहे रावण को देख लो, चाहे कौरव को देख लो,
अपने ज्ञान चक्षु को खोलकर कुछ सीख लो.


वो अपना हाथ भी उठाती है,
जोर से आवाज भी लगाती है,
पुरूषों के इस समाज में आज भी
उसकी आवाज दबा दी जाती है.


एहतियात की कितनी भी ऊँची हो दीवार,
फर्क ही नही पड़ता जब सोच ही हो बीमार.


रेप स्टेटस

उन वहशी नजरों से वो पर्दा बेहिसाब करती है,
वो मुसलमान नही है फिर भी हिजाब करती है.


बलात्कार कभी छोटे कपड़ो की वजह से नही,
बल्कि छोटी सोच की वजह से होता है.


भगवान को मन्दिर में नही मन में बसाओ,
ताकि आँगन में गुड़िया बिना डर के सुरक्षित खेल सके.


Rape Shayari Hindi

लड़कियों के जिस्म को तो कपड़ो से ढका जाएगा,
तुम ये बताओ उन हैवानो की सोच में परिवर्तन कैसे आएगा.


शेरो की शहर में गीदड़ो का शासन है,
कन्हैया का भेष बनाकर बैठा दुशासन है.


इसे भी पढ़े –

world-standards-day-shayari-status

Post a Comment

Previous Post Next Post